Friday, February 3, 2023
HomeUncategorizedविधि व्यवस्था संधारण में सेक्टर मजिस्ट्रेट की भूमिका अहम

विधि व्यवस्था संधारण में सेक्टर मजिस्ट्रेट की भूमिका अहम

ब्रीफिंग में दिए गए तकनीकी टिप्स व व्यावहारिक ज्ञान

छपरा।
जिला निर्वाचन पदाधिकारी सह जिला पदाधिकारी के निदेश पर समाहरणालय सभागार में नगर निकाय चुनाव के दूसरे चरण के सेक्टर दंडाधिकारी और पुलिस पदाधिकारियों के मिलान सह ब्रीफिंग का आयोजन किया गया। सेक्टर पदाधिकारी और पुलिस पदाधिकारियों को संबोधित करते हुए उप निर्वाचन पदाधिकारी जावेद एकबाल ने कहा कि चुनाव के दौरान विधि व्यवस्था संधारण में सेक्टर दंडाधिकारी व पुलिस पदाधिकारियों की भूमिका सबसे अहम है। उनकी भूमिका सबसे पहले शुरू होती है और मतदान के दिन वे ही बूथ स्तर पर प्रशासन के आंख, कान और हैंड्स होते हैं। उनकी सजगता से ही भयमुक्त, निष्पक्ष और त्रुटि रहित मतदान सम्भव है। डीएसपी सदर सौरभ जायसवाल ने अपने संबोधन में कहा कि चुनाव लोकतन्त्र का महापर्व है। इसमें कोताही कतई क्षम्य नहीं होती। आयोग के स्तर पर कार्रवाई निश्चित होती है। इसलिए सभी लोग अपने कर्तव्यों के प्रति सजग रहेंगे। इवीएम की सुरक्षा और एसओपी के पालन में जीरो टॉलरेंस का पालन करें। सभी दंडाधिकारी और पुलिस पदाधिकारी चुनाव के दिन आवश्यक रूप अपना मोबाईल खुला रखेंगे और प्रत्येक कॉल को रिसीव व रिस्पॉन्स करेंगे। जिला सूचना एवं विज्ञान पदाधिकारी तारणी कुमार ने पीपीटी के माध्यम से सेक्टर पदाधिकारी के निगरानी सह रिपोर्टिंग ऐप के संचालन के संबंध में जानकारी दी। जिला पंचायत राज पदाधिकारी राजू कुमार ने बरती जाने वाली सावधानियों पर प्रकाश डाला।मास्टर ट्रेनर नदीम अहमद एवं सुनील कुमार ने रिज़र्व मशीन प्राप्त करने से लेकर बूथ पर त्रुटि निराकरण, मशीन बदलने और उन्हें जिला स्कूल में निर्मित रिजर्व स्ट्रॉन्ग रूम में वापस जमा करने और विभिन्न प्रकार के फॉर्मेट भरने के संबंध में बिन्दुवार चर्चा की।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments