Tuesday, December 6, 2022
HomeUncategorizedराम जयपाल महाविद्यालय केन्द्र पर विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे...

राम जयपाल महाविद्यालय केन्द्र पर विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे विद्यार्थियों हेतु एक ‘प्रेरणा सत्र’ कार्यक्रम का आयोजन किया

आज दिनांक 27 जुलाई 2022 को बिहार सरकार द्वारा संचालित प्राक परीक्षा प्रशिक्षण केन्द्र (पिछड़ा वर्ग एवं अति पिछड़ा वर्ग) के राम जयपाल महाविद्यालय केन्द्र पर विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे विद्यार्थियों हेतु एक ‘प्रेरणा सत्र’ कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम का प्रारम्भ प्राक परीक्षा प्रशिक्षण केन्द्र निदेशक श्री राकेश यादव ने जिला कल्याण पदाधिकारी (सारण) श्री कौशल किशोर पासवान और विद्यार्थियों के स्वागत के साथ किया। जिला कल्याण पदाधिकारी श्री कौशल किशोर पासवान जी ने अपने अभिभाषण में केन्द्र पर अध्ययनरत विद्यार्थियों को प्रोत्साहित करते हुए कहा कि नियमित रूप से योजनाबद्ध ढंग से कठिन परिश्रम करके कोई भी लक्ष्य प्राप्त किया जा सकता है, यदि आप जीवन में सफल होना चाहते है तो अनुशासन और निरन्तरता को अपनी दिनचर्या में शामिल कर लें। यदि आप दृढ़ इच्छाशक्ति वाले है तो आप कम संसाधनों में भी सफलता के शिखर को प्राप्त कर सकते है। इस प्रेरणा सत्र में राम जयपाल महाविद्यालय के प्राचार्य प्रो. इरफान अली ने अपना विचार रखते हुए कहा कि आपको अपनी क्षमताओं का ईमानदार आंकलन करना चाहिए और एक बार लक्ष्य का निर्धारण कर लेने के पश्चात उसकी प्राप्ति तक कठिन परिश्रम करना चाहिए। अध्यापक आपको सिर्फ दिशा-निर्देश दे सकते है जो अमल करना आपकी जिम्मेदारी होती है। अध्यापक आपको मंजिल तक पहुँचने के रास्ते बता सकते है किन्तु सफर आपको ही करना होगा और इस सफर को वही पूरा कर सकते है जो आत्म विश्वासी और संघर्षशील होते है इसीलिए आपको संघर्ष और एकाध असफलताओं से घबराना नही चाहिए।वही इस प्रेरणा सत्र में अपना विचार रखते हुए डॉ. शिव प्रकाश यादव ने कहा कि सभी विद्यार्थियों को अपना लक्ष्य निर्धारित कर लेने के बाद उपलब्ध संसाधनों में बेहतर करने की कोशिश करनी चाहिए, इसके लिए सभी विद्यार्थियों को अपनी एक स्पष्ट एवं समयबद्ध योजना बना लेनी चाहिए।योजना को बना लेने के बाद उसे पूरा करने के लिए नियमित रूप कोशिश करनी चाहिए, आप अपनी योजना को जितने बेहतर तरीके से अमल में लायेंगे, आप उतना ही अपनी मंजिल (सफलता) के करीब पहुँचेंगे।जीवन के किसी भी क्षेत्र में सफलता प्राप्ति के लिए नियमित कठिन परिश्रम अति आवश्यक होता है और इस कठिन परिश्रम का कोई विकल्प भी नही हो सकता है। आप सब प्रतियोगी परीक्षाओं के विद्यार्थी होने के नाते आपको कठिन परिश्रम,असफलता और संघर्ष से घबराना नहीं चाहिए है बल्कि इसे अपनी दिनचर्या स्वीकार कर लेना चाहिए। इसके अतिरिक्त संसाधनों की कमी और नकारात्मक परिस्थितियों से भी डरना नही है, बल्कि मजबूती से उसका सामना करें क्योंकि परिस्थितियां कभी भी किसी के अनुकूल नही होती है बल्कि उनको अपने अनुकूल बनानी पड़ती है। इसीलिए वर्तमान को स्वीकार करते हुए अच्छा करने की इच्छा और कोशिश ही आपको सफल बना सकती है।इस प्रेरणा सत्र में राम जयपाल महाविद्यालय के डॉ. नागेन्द्र शर्मा, डॉ. ऐमन रियाज, डॉ. विवुध प्रकाश केशरी,श्री राजीव कुमार, श्री मधुसूदन, श्री रंजय कुमार,श्री स्वेतांक वर्मा जी ने भी अपने विचार रखे। प्रेरणा सत्र के आखिरी पड़ाव में केन्द्र पर अध्ययनरत विद्यार्थियों की विभिन्न जिज्ञासाओं का समाधान किया गया इसके अतिरिक्त केन्द्र पर अध्ययनरत अमृतेश कुमार,गौरव कुमार, सुनील कुमार,निधि कुमारी, प्रियंका कुमारी जैसे विद्यार्थियों ने अपने अनुभव को भी साझा किया। इस कार्यक्रम के आखिर में बोलते हुए केन्द्र के निदेशक श्री राकेश कुमार यादव ने विद्यार्थियों को आश्वस्त किया कि हम केन्द्र स्तर पर जितनी मदद हो सकती है उतनी उपलब्ध करवाएंगे, बस आप सब सकारात्मक मनोभाव से परिश्रम कीजिए। आपकी सफलता ही हमारे केन्द्र की सफलता है। इस कार्यक्रम में केन्द्र पर अध्यायपन करने वाले सभी अध्यापक एवं विद्यार्थी उपस्थित रहे।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments