Tuesday, December 6, 2022
HomeUncategorizedमुंबई में कला रत्न सम्मान से सम्मानित हुए छपरा के संदीप

मुंबई में कला रत्न सम्मान से सम्मानित हुए छपरा के संदीप

छपरा शहर के मासूमगंज मोहल्ले के निवासी श्री सत्यनारायण प्रसाद व प्रेमा देवी के चतुर्थ संतान संदीप कुमार को मुंबई हिंदी अकादमी के द्वारा दिनांक 10 सितम्बर ,2022 को कला रत्न सम्मान से सम्मानित किया गया। संदीप को यह सम्मान भारतीय फिल्म जगत में लेखन और निर्देशन में किए गए उनके उत्कृष्ट कार्य के लिए प्रदान किया गया। यह सम्मान मुंबई हिंदी अकादमी के अध्यक्ष श्री पवन तिवारी एवं जानीमानी लेखिका तथा समाज सेविका श्रीमती अलका पांडे के कर कमलों द्वारा प्रदान किया गया। संदीप कुमार ने इलाहाबाद विश्वविद्यालय से फिल्म और थिएटर में मास्टर की डिग्री प्राप्त करने के पश्चात महात्मा गांधी अंतरराष्ट्रीय हिंदी विश्वविद्यालय वर्धा से इसी विषय में एमफिल की डिग्री प्राप्त की है। स्टार प्लस के टीवी सीरियल मेरी दुर्गा मे सह निर्देशक के रूप में संदीप ने सिनेमा जगत की शुरुआत की। तत्पश्चात टीवी सीरियलों में सह- निर्देशक के रूप में कार्य करने का सिलसिला चलता रहा। संदीप के निर्देशन में निर्मित बहुचर्चित डॉक्यूमेंट्री फिल्म “महाकुंभ” राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर फिल्म फेस्टिवल में सर्वश्रेष्ठ फिल्म तथा कुमार को इसी डॉक्यूमेंट्री के लिए सर्वश्रेष्ठ निर्देशक के रूप में कई बार पुरस्कारों से नवाजा गया है। “महाकुंभ” को लंदन और स्पेन के फिल्म फेस्टिवल में भी प्रदर्शित हुआ। संदीप की दूसरी डॉक्यूमेंट्री “छात्रसंघ” जो जेएनयू, दिल्ली विश्वविद्यालय तथा इलाहाबाद विश्वविद्यालय के छात्र राजनीति पर आधारित है,हाल हीं में 5 अंतर्राष्ट्रीय फिल्म फेस्टिवलों में सर्वश्रेष्ठ डॉक्यूमेंट्री का अवॉर्ड प्राप्त कर चुकी है। संदीप कुमार की आने वाली डॉक्यूमेंट्री भारत के सुप्रसिद्ध साहित्यकार ” श्री रामदरश मिश्र ” की संपूर्ण जीवन पर आधारित है। साथ हीं “रामचरितमानस” और “16 संस्कार” पर भी आपकी डॉक्यूमेंट्री फिल्में आने वाली है। संदीप कुमार ने ” भारतीय नृत्य शैली” तथा ” पारंपरिक नृत्य और सिनेमा” नामक नृत्य आधारित दो पुस्तकों का लेखन भी किया है, जिसे पाठकों द्वारा अत्यंत हीं सराहा गया है । इसके साथ हीं अनेकों लघु फिल्मों तथा एक वेब सीरीज “द एडिक्शन” का लेखन भी किया है। आपने “अंततः”, “सफदर हाशमी”, “संध्या”, “विश्व हिंदी सम्मेलन (भोपाल)” इत्यादि विषयों पर शॉर्ट फिल्में और डॉक्यूमेंट्री भी बनाई है। संदीप का पूरा परिवार पठन-पाठन तथा समाज कार्य में हमेशा तत्पर रहता है। संदीप की बड़ी दीदी डॉ दर्शना कुमारी बाल विकास परियोजना पदाधिकारी खोदावंदपुर के बेगूसराय में सेवारत हैं तथा इनके बड़े भाई आशीष कुमार रेवेन्यू ऑफिसर के रूप में हाजीपुर के महनार ब्लॉक में अपनी सेवा दे रहे हैं। दूसरे भाई सचिन कुमार किशनगंज में शिक्षक के रूप में ज्ञान परंपरा को आगे बढ़ाने में अपना योगदान दें रहे हैं। तथा संदीप के चाचा डॉ हरी नारायण प्रसाद डॉ चंद्रदीप नारायण प्रसाद छपरा में ही अपनी सेवा दे रहे हैं। कार्यक्रम के संयोजक रामकुमार जी तथा मंच का संचालन डॉक्टर वर्षा सिंह ने किया। इस पल को अपने जीवन का एक यादगार पल बताते हुए संदीप कुमार ने बताया कि वह अपने संयुक्त परिवार को बहुत मिस करते रहे क्यूंकि परिवार हीं किसी भी व्यक्ति की सफलता की सबसे मजबूत नींव होती है । उन्होंने अपनी सफलता का श्रेय अपने स्वर्गीय दादा जी ( स्वतंत्रता सेनानी), माता – पिता , चाचा, बड़े भाइयों और बहन को दिया ।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments