मांझी के प्रसिद्ध रामघाट को पर्यटन स्थल के रूप में विकसित करने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है।

मांझी। मांझी के प्रसिद्ध रामघाट को पर्यटन स्थल के रूप में विकसित करने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। बुडकों कम्पनी के निदेशन में काम करने वाली श्याम डिजाइनर्स एंड कंसल्टेंट प्राइबेट लिमिटेड कंपनी के प्रबंध निदेशक बी पी गुप्ता सहायक अभियंता आनंद मोहन सिंह तथा जीएम प्रोजेक्ट्स सचिव ई शहबाज आलम ने राम घाट का विधिवत निरीक्षण किया। निरीक्षण में आये पदाधिकारियों ने बताया कि लगभग तीस करोड़ की लागत से मांझी के रामघाट को अयोध्या के रामघाट की तरह विकसित किया जाएगा। प्रस्तावित योजना के तहत मांझी रेलपुल तथा जयप्रभा सेतु के मध्य चार सौ मीटर लंबा तथा नदी तल से 18 मीटर चौड़ा पक्का घाट का निर्माण किया जाएगा। घाट के बीचोबीच एक अटल स्मृति के अलावा चबूतरा युक्त एक दर्जन शेड एक दर्जन शौचालय बनाये जाने की योजना है। घाट पर एक दर्जन हाई मास्क लाइट तथा पार्किंग जोन आदि का भी निर्माण किया जाएगा। इसके अतिरिक्त मुख्य सड़क से घाट को जोड़ने के लिए 20 बीस फीट चौड़ा दो पक्की सड़क व प्रवेश द्वार का निर्माण किया जाएगा। मालूम हो कि पिछले वर्ष सांसद जनार्दन सिंह ने उक्त योजना के तहत मांझी के रामघाट तथा श्मसान घाट को विकसित करने की घोषणा की थी। निरीक्षण में भाजपा के मंडल अध्यक्ष व सरपंच मनोज प्रसाद नीलेश सिंह जय शंकर सिंह दीपक भारती तथा सूर्य प्रकाश तिवारी आदि भी मौजूद थे।

Please follow and like us:
error5
Tweet 20
fb-share-icon20
Live खबर