भारत के 15 राज्यो में निकली गायत्री परिवार की टोली सामाजिक कुरीतियो के खिलाफ जन जन तक पहुचाएंगे अपनी आवाज

भारत के 15 राज्यो में निकली गायत्री परिवार की टोली सामाजिक कुरीतियो के खिलाफ जन जन तक पहुचाएंगे अपनी आवाज
अखिल विश्व गायत्री परिवार,शांति कुंज हरिद्वार द्वारा शांति कुंज स्वर्ण जयंती वर्ष 2021 के अंतर्गत 8 अगस्त को शांतिकुंज से डॉ प्रवण पांडेय एवम शैलबाला पांडेय से विदाई लेकर 30 टोलिया पूरे भारत वर्ष के 15 राज्यो में संदेश को जन जन तक पहुचने हेतु रवाना हुई।
यह अभियान पूरे वर्ष चलता रहेगा।
शांतिकुंज हरिद्वार की स्थापना वर्ष 1971 में गुरुदेव युगऋषि श्रीराम शर्मा आचार्य एवम माता जी भगवती देवी शर्मा कर कमलों से सम्पन्न हुई थी। सद्बुद्धि प्रदाता माता गायत्री के आराधना से साधको का सद्भावना में बदल जाता है और जिससे समाज मे रचनात्मक और सुधारात्मक कार्य किये जा सकते है वही इस दिशा में समाज मे ज्यादा से ज्यादा लोग निःस्वर्थ भाव से कार्य करेंगे तो समाज विकास के पथ पर अग्रसर होगा।
छपरा में गायत्री परिवार के बीरेंद्र तिवारी ने एक प्रेस वार्ता में कहा कि गायत्री परिवार के संदेश को जनजन तक पंहुचाना एवं लोगो से मिलकर उन्हें समाज मे फैले कुरीतियों से लड़ने एवम सभी को आस्था के प्रति जागरूक करने का काम गायत्री परिवार करता है समय समय पर सामाजिक सरोकार से जुड़े कार्य जैसे गरीब असहाय लोगो का मदद करना एवम पर्यावरण को सुरक्षित रखने हेतु वृक्षारोपण जैसे कार्य गायत्री परिवार के तरफ से किया जाता रहता है वे 30 अगस्त तक गायत्री परिवार के सदस्यों ने छः छः पेड़ लगाने का निर्णय भी लिया गया है।
बीयूरो रिपोर्ट पाठक की नजर से छपरा

Please follow and like us:
error5
Tweet 20
fb-share-icon20
Live खबर धर्म