प्रधान डाकघर के कर्मचारियों ने मुकदमे का किया विरोध

प्रधान डाकघर के कर्मचारियों ने मुकदमे का किया विरोध

सारण प्रमंडल अंतर्गत छपरा प्रधान डाकघर के सभी कर्मचारियों ने एक प्रेस विज्ञप्ति जारी कर कहा की एक महिला डाकिया के द्वारा डाकघर के अधिकारियों एवं कर्मचारियों को बदनाम करने हेतु एक साजिश के तहत नगर थाने में कर्मचारियों एवं अधिकारियों पर एक झूठा प्राथमिक दर्ज कराया गया है।जो सरासर गलत है ऐसी घटना छपरा प्रधान डाकघर के अंदर कभी घटित नहीं हुई है। छपरा प्रधान डाकघर का परिसर पूरी तरह सीसीटीवी कैमरा की निगरानी में है।उक्त महिला के द्वरा बार बार अधिकारियों एवम कर्मचारियों पर नियमाबिरुद्ध काम करने को लेकर दबाब बनाया जाता था।जब डाक विभाग के अधिकारियो ने उसे डांटा तो उक्त महिला डाकिया ने एक झूठी साजिश एवम झूठा आरोप लगाकर डाकघर के छवि को धूमिल करने के लिए झूठा मुकदमा डाकघर के अधिकारियों पर कर दिया।छपरा प्रधान डाकघर के सभी कर्मचारी और पदाधिकारियों ने इस घटना का घोर निंदा किया है,प्रधान डाकघर के कर्मचारियों का कहना है कि उक्त महिला डाकिया द्वारा आवंटित कार्यों में हमेशा लापरवाही किया जाता रहा है, अधिकारियों एवं कर्मचारियों द्वारा समझाने पर अपने को दलित कह कर न्यायालय में हरिजन एक्ट लगाने की धमकी दिया करती हैं। जिसके कारण प्रधान डाकघर के सभी कर्मचारीयो के अंदर डर बना रहता है।माननीय न्यायालय अपर समाहर्ता लोक शिकायत निवारण तथा माननीय आयुक्त महोदय छपरा सहित अन्य विभागों के रजिस्टर्ड पत्र का वितरण महिला डाकिया द्वारा सही समय पर नहीं करने के कारण उन्हें निलंबित किया गया है।जिससे क्रोधित हो कर उक्त महिला डाकिया द्वारा एक मनगढ़ंत एवं काल्पनिक घटना तैयार कर डाक विभाग के अधिकारियों पर महिला डाकिया द्वारा फ़र्ज़ी प्राथमिकी दर्ज कराया गया है।जिसका छपरा प्रधान डाक के सभी कर्मचारियों द्वारा घोर निंदा किया गया।

Please follow and like us:
error5
Tweet 20
fb-share-icon20
Live खबर