डीसीएलआर पुष्पेश कुमार ने मांझी प्रखंड के नसीरा पंचायत में पहुंच कर चार वार्डों में नल-जल योजना के अंतर्गत कराये गए कार्य एवं वितीय अभिलेखों की गहन जांच की।

जिला लोक शिकायत में लिखित शिकायत मिलने के बाद सारण डीएम के निर्देश पर शनिवार को डीसीएलआर पुष्पेश कुमार ने मांझी प्रखंड के नसीरा पंचायत में पहुंच कर चार वार्डों में नल-जल योजना के अंतर्गत कराये गए कार्य एवं वितीय अभिलेखों की गहन जांच की। मैरवां गांव स्थित पंचायत में जांच-पड़ताल के दौरान डीसीएलआर ने बैंक खाते से निकाली गई राशि एवं खर्च का ब्यौरा का गहन अध्ययन किया। कई जगह गड़बड़ी मिलने पर उन्होंने पंचायत सचिव, मुखिया, वार्ड सदस्यों व जेई आदि से सवाल-जवाब भी किया। वार्ड 5, 6 व 7 के सदस्य प्रतिनिधियों ने बताया कि उनकी योजना से संबंधित फाइल पंचायत सचिव ने रिसीव कर रखी है। जबकि पंचायत सचिव ने कहा लौटा दी गई है। इस पर डीसीएलआर ने नाराजगी जतायी। इस दौरान मुखिया प्रतिनिधि एवं एक वार्ड सदस्य के परिजन से नोक-झोंक भी हो गई। हालांकि कुछ लोगों ने समझा-बुझा कर मामले को शांत करा दिया। अंत में बीडीओ नील कमल, बीपीआरओ काशीनाथ राम, तकनीकी सहायक सद्दाम हुसैन आदि की मौजूदगी में डीसीएलआर ने वार्ड 5, 6,7,8 व 9 वार्ड में कार्यान्वित नल-जल योजना की स्पॉट जांच की। मौके पर मुखिया कमलावती देवी, मुखिया प्रतिनिधि उदय सागर, उप मुखिया संध्या देवी, संजू देवी, दिनेश कुमार पांडेय, डॉ. वीरेंद्र राय, हड़ताली प्रसाद, तारकेश्वर पांडेय, डॉ. हरिचरन शर्मा सहित कई लोग मौजूद थे।

Please follow and like us:
error5
Tweet 20
fb-share-icon20
Live खबर