किसी भी देश व राज्य का विकास तब तक संभव नहीं है जब तक कि ग्रामीण इलाकों में बसर करने वाले युवक युवती शिक्षित नहीं होंगे

किसी भी देश व राज्य का विकास तब तक संभव नहीं है जब तक कि ग्रामीण इलाकों में बसर करने वाले युवक युवती शिक्षित नहीं होंगे और बदलते परिवेश में सभी नागरिकों को तकनीकी शिक्षा से जुड़ना जरूरी भी होगा। इसी को ध्यान में रखकर सरकार द्वारा लगातार प्रयास किया जा रहा है।
सारण जिले में भी खासकर ग्रामीण क्षेत्रों में डिजिटल साक्षरता को बढ़ावा देने के लिए केंद्र व राज्य सरकार द्वारा कई योजनाएं शुरू की गई है।
सारण जिले के नगरा प्रखंड अंतर्गत पटेढ़ा में बिहार सरकार द्वारा कंप्यूटर प्रशिक्षण सह तकनीकी सहायता केंद्र भी संचालित किया जा रहा है जहा आसपास के दर्जनों गांव के सैकड़ों युवक युवती कम्प्यूटर का प्रशिक्षण प्राप्त कर स्वावलंबी बन रहे हैं।

ग्रामीण कम्प्यूटर प्रशिक्षण केन्द्र पटेढ़ा के संस्थापक सह कम्प्यूटर प्रशिक्षक समीर सर ने बताया कि सरकार के लिए गए निर्णय पढ़ेगा इंडिया तो बढ़ेगा इंडिया व डिजिटल साक्षरता मिशन के संकल्प को पूरा करने के उद्देश्य से पटेढ़ा चौक के समीप ही इस केंद्र का संचालन किया जा रहा है जहा कोरोना संक्रमण के कारण प्रभावित शिक्षा को ध्यान में रखकर सरकार द्वारा तकनीकी शिक्षण संस्थानों को संचालित करने का निर्णय काफी सराहनीय कदम है। उन्होंने बताया कि ग्रामीण क्षेत्रों के युवाओं को न्यूनतम नामांकन शुल्क जमा कराकर, निशुल्क कम्प्यूटर प्रशिक्षण के साथ साथ, प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए विशेष तैयारी यथा रेलवे, एसएससी, बैंकिंग, डाटा एंट्री ऑपरेटर, टाइपिंग कोर्स की भी सुविधा दी जाती है साथ ही निजी स्तर पर रोजगार दिलवाने का भी कार्य किया जा रहा है।

Please follow and like us:
error5
Tweet 20
fb-share-icon20
Live खबर