आज से छ्परा में शहर के मौना चौक खनुआ नाले पर बनी सैकड़ो दुकानों को तोड़ने की प्रक्रिया हुई तेज 20 दुकानों पर चला प्रशासन का बुलडोजर

आज से छ्परा में शहर के मौना चौक खनुआ नाले पर बनी सैकड़ो दुकानों को तोड़ने की प्रक्रिया हुई तेज 20 दुकानों पर चला प्रशासन का बुलडोजर
छपरा में एक बार फिर खनुआ नाला पर से बने दुकानों को हटाने का अभियान चलाया जा रहा है इस अभियान के तहत खनुआ नाला पर बने 286 दुकानों में से 20 दुकानों को जिला प्रशासन ने शॉर्ट नोटिस के अंतर्गत  तोड़ कर गिरा दिया है भारी पुलिस बल की मौजूदगी में इस अभियान को सुबह 11 बजे से शुरू किया गया और अभी तक यह अभियान लगातार चल रहा है इस अभियान में नगर निगम ,बुडको ,जिला प्रशासन के वरीय प्रशासनिक पदाधिकारी समेत बड़ी संख्या में पुलिस बल मौजूद रहा सबसे पहले साढ़ाढाला के पास से इस अभियान की शुरुआत की गई और हर 4से6 दुकानों के बाद से दो दुकानों को इस अभियान में तोड़ा जा रहा है गौरतलब है कि एनजीटी के आदेश के तहत यह कार्रवाई शुरू की गई है जिसमें अभी तक लगभग 20से 25 दुकानों पर प्रशासन का बुलडोजर चल चुका है गौरतलब है कि वर्ष 1995 में ही तत्कालीन जिला प्रशासन ने खनुआ नाला के ऊपर 286 दुकानें बनाकर स्थानीय दुकानदारों को अलाट कर दिया था और खनुआ नाला के ऊपर दुकान बनाए जाने के कारण नाले का प्रवाह अवरुद्ध हो गया और शहर में जल जमाव की स्थिति जब विकराल रूप धारण की तब स्थानीय लोगों ने जिला प्रशासन से लेकर कोर्ट तक का दरवाजा खटखटाया उसके बाद एनजीटी ने एक कार्रवाई के तहत यह आदेश दिया कि खनुआ नाले पर बनी सभी 286 दुकानों को तोड़कर खनुआ नाले का वास्तविक स्वरूप प्रदान किया जाए इसको लेकर जिला प्रशासन ने कार्रवाई शुरू की है और दुकानदारों को धीरे-धीरे नोटिस थमाया जा रहा है और एक लाइन की नोटिस में यह कहा जा रहा है कि आप की अनुज्ञप्ति रद्द की जाती है और आप दुकानों को खाली कर दें वहीं कई लोगों ने प्रशासन की कार्रवाई का स्वागत किया है लेकिन वह कई लोगों ने यह भी समस्या उठाई है की दुकाने को इस तरह से तोड़े जाने से वह दुकानदार  बेरोजगार हो जाएंगे उनको कहीं पुनः स्थापित करने का यह बंदोबस्त जिला प्रशासन को करना चाहिए लेकिन जिला प्रशासन की मनमानी है कि ना तो उनको मुआवजा दिया जा रहा है और ना ही उनको कहीं पुनः स्थापित किया जा रहा है इससे उनके सामने बेरोजगारी की समस्या उत्पन्न हो गई है।

Please follow and like us:
error5
Tweet 20
fb-share-icon20
Live खबर