शिशु को छह माह तक सिर्फ स्तनपान कराएं, पानी की एक बूंद एवं कुछ भी ना पिलाएं : सिविल सर्जन

शिशु को छह माह तक सिर्फ स्तनपान कराएं, पानी की एक बूंद एवं कुछ भी ना पिलाएं : सिविल सर्जन

• सिविल सर्जन की अध्यक्षता में जिलास्तरीय वेबिनार का हुआ आयोजन
• स्तनपान के महत्व पर की गयी चर्चा
छपरा,4 अगस्त । जिले में 1 से 7 अगस्त तक विश्व स्तनपान सप्ताह मनाया जा रहा है। स्तनपान के प्रति अधिक से अधिक लोगों को जागरूक करने के उद्देश्य से सिविल सर्जन डॉ. जर्नादन प्रसाद सुकुमार की अध्यक्षता में जिला स्तरीय वेबिनार का आयोजन किया गया। वेबिनार को संबोधित करते हुए सिविल सर्जन डॉ. जेपी सुकुमार ने कहा कि स्तनपान से बच्चों को कई बीमारियों से बचाया जा सकता एवं उन्हें सुरक्षित रखा जा सकता है। गौरतलब हो कि छह माह तक मां का दूध बच्चे की सभी पोषण जरूरतें पूरी करता है। स्तनपान शिशु को दस्त और श्वसन संक्रमण जैसी बीमारियों से सुरक्षित रखने में मदद करता है। मां का दूध शिशु के लिए सर्वोत्तम आहार है। शिशु को निमोनिया तथा अन्य कई रोगों से बचाता है एवं शिशु को आगे जीवन में हो सकने वाले रोगों से खतरे को कम करता है। शारीरिक एवं मानसिक विकास को बढ़ावा देता है। उन्होंने कहा कि स्तनपान मां को प्रसव पश्चात होने वाले खतरों से बचाता है। जन्म के एक घंटे के अंदर स्तनपान की शुरुआत एवं छह माह तक सिर्फ मां का दूध पिलाना चाहिए। पानी भी नहीं पीना है। दो साल तक ऊपरी आहार के साथ मां का दूध जारी रखना चाहिए। मां के दूध से ही बच्चे को पानी, विटामिन, मिनरल, कैल्शसयम एवं संपूर्ण चीजें मिल जाती हैं। इसलिए शिशु को छह माह तक सिर्फ स्तनपान कराएं। पानी की एक बूंद एवं कुछ भी ना पिलाएं। वेबिनार का संचालन जिला स्वास्थ्य समिति के डीपीसी रमेश चंद्र कुमार ने किया। केयर इंडिया की मेंटर दीपिका राणा ने पीपीटी प्रजेंटेशन को प्रस्तुत किया। इस वेबिनार में विश्व स्वास्थ्य संगठन के एसएमओ डॉ. रंजितेश कुमार, यूनिसेफ एसएमसी आरती त्रिपाठी, सीफार के प्रमंडलीय कार्यक्रम समन्वयक गनपत आर्यन, सभी प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी, सीडीपीओ, बीएचएम शामिल थे।

चित्रकला प्रतियोगिता का हुआ आयोजन:

विश्व स्तनपान सप्ताह पर महिलाओं को जागरूक करने के उद्देश्य से सदर अस्पताल में चित्रकला प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। जिसमें सदर अस्पताल के एएनएम और जीएनएम के द्वारा एक से एक चित्रकला की प्रस्तुति की गयी । नर्सों ने अपनी प्रतिभा से कई उत्कृष्ट पेंटिंग बनायी। जिसकी प्रशंसा वरीय पदाधिकारियों के द्वारा की गयी। जिला स्वास्थ्य समिति के डीपीसी रमेश चंद्र कुमार ने बताया कि चित्रकला में बेहतर प्रदर्शन करने वाली एएनएम और जीएनएम को पुरस्कृत किया जायेगा।

स्तनपान से माँ को लाभ :

केयर इंडिया की दीपिका राणा ने बताया कि स्तनपान, वजन कम करने में सहायक होता है, जब माँ, अपने शिशु को स्तनपान कराती है तो उसका शरीर लगभग 450 से 500 कैलोरी खर्च करता है| इससे प्राकृतिक ढंग से वजन कम करने मे मदद मिलती है। स्तनपान ब्रेस्ट और ओवेरियन कैंसर के खतरे को कम करता है। – स्तनपान माँ और शिशु के बीच भावनात्मक रिश्ते को बढ़ाता और मजबूत करता है। स्तनपान कराने वाली माँ को पोषक तत्वों से युक्त संतुलित आहार अवश्य करना चाहिए। स्तनपान कराने वाली माँ को अपने खाने का खास ख्याल रखना चाहिए क्योंकि इस वक्त वह जो भी खाती है उसका असर उसके बच्चे पर पड़ता है। कुछ खाद्य पदार्थ है, जो विशेष रूप से दूध उत्पादन में वृद्धि करने में मदद करते हैं, इस तरह के खाद्य पदार्थ ,गैलेकटगाग के रूप में जाने जाते हैं।

Please follow and like us:
error5
Tweet 20
fb-share-icon20
हेल्थ